Saturday, July 1, 2017

एक लाख लोगों ने SEJAL के “INTERCOURSE” पर सेंसर बोर्ड को क्यों कहा – “YES”

फ़िल्म उड़ता पंजाब , अलीगढ़ और फिर लिपस्टिक अंडर माई बुर्का पर अपनी संस्कारी कैंची चलाते हुए सेंसर बोर्ड के मुखिया पहलाज निहलानी  ने इस बार जब शाहरुख की आने वाली फ़िल्म  “ जब हैरी मेट सेजल के ट्रेलर पर अपनी कैंची चलाई तो वे फंस
गए लगते हैं . इस फ़िल्म के ट्रेलर में इंटरकोर्स शब्द के इस्तेमाल पर पहलाज निहलानी ने आपत्ति जाहिर की थी और उसे रिलीज करने से इंकार कर दिया .
एक टेलीविजन चैनल “Mirror Now “  के एक सवाल पर पहलाज निहलानी ने चेलैंज किया कि अगर मौजूदा सोसायटी में इस शब्द को लेकर कोई परेशानी नहीं है तो वे अपने चैनल पर इसके समर्थन में एक लाख वोट लाकर दिखाएं तो वे अपने आब्जेक्शन को वापस ले लेंगें. “Mirror Now “  ने इस चेलैंज को स्वीकार करते हुए अपने चैनल पर इसके लिए वोटिंग शुरु कर दी और उसे इस मसले पर 1 लाख 28 हज़ार 274 वोट मिले जिसमें 80 फीसद वोट इंटरकोर्स शब्द के इस्तेमाल पर आपत्ति नहीं होने यानी उसके पक्ष में और 20 फीसद वोट इसके ख़िलाफ़ मिले यानी हिन्दुस्तान के आम दर्शक को इसे लेकर कोई परेशानी नहीं है.
Red Chillies production की यह फ़िल्म अगस्त में रिलीज होने वाली है, इसमें शाहरुख ख़ान और अनुष्का शर्मा हैं । फ़िल्म के एक ट्रैलर में अनुष्का शर्मा शाहरुख को कहते हुए दिखती है कि अगर हम दोनों के बीच “amounting to full intercourse “होता भी है तब भी मैं तुम्हारे ख़िलाफ़ कोई कानूनी कारवाई नहीं करुंगी. सेंसर बोर्ड के मुखिया पहलाज निहलानी ने इसे ट्रेलर से हटाने के लिए कहा था . अपनी इस वोटिंग के बाद “Mirror Now “  की रिपोर्टर पहलाज निहलानी से बार बार इस पर सवाल करते हुए दिखाई गई है ,लेकिन निहलानी कोई जवाब नहीं देते और वे लिफ्ट में चुप खड़े हैं .
 एक के बाद एक फ़िल्मों पर अपनी संस्कारी कैंची चलाने वाले पहलाज निहलानी को बदलते हिन्दुस्तान की तरह सोचना होगा और यह भी समझना होगा कि उनके पास फिल्मों को रोकने का  खुला अधिकार नहीं है . वैसे सेंसर बोर्ड के इस रवैये के बाद फिल्म को ज़्यादा पब्लिसिटी मिल रही है.


No comments:

Post a Comment

Search