Sunday, July 2, 2017

आप बताइए,क्या Gynaecologist के पास जाने के लिए मॉं का साथ होना ज़रुरी है ?


रोज़ाना ख़बरों में तो सुनती भी हूं, पढ़ती भी हूं तो लगता है कि हमारा देश आगे बढ़ रहा है तेजी से. सोच-समझ भी बदली है और लड़कियों को लेकर नजरिया भी शायद बदला होगा, लेकिन मेरा अपना अनुभव इससे कुछ अलग ही रहा. मैंनें अभी दिल्ली के एक मशहूर कॉलेज से ग्रेजूएशन किया है और मुझे लगता है कि कालेज लाइफ में तो हर किसी का अफयेर
होता ही है. यदि आप ना कहती हैं तो मुझे हैरानी होगी या फिर लगेगा कि झूठ बोल रही है, खैर मैं अपनी बात कर रही थी.
कॉलेज में दो साल सीनियर एक लड़के से मेरा अफेयर चल रहा है और हमारी फ्रेंडस में शायद कोई भी नहीं जिसका अफेयर नहीं हो. बल्कि कई लड़कियां तो एक साथ दो तीन ब्वायफ्रेंड भी चला लेती हैं कि बाद में उनमें से किसी एक से सीरियस रिलेशनशिप हो जाएगी. अफेयर में थोड़े दिन तो कॉफी पर मिलना, बाइक पर घूमना चलता है लेकिन थोड़े दिनों में ही ब्वायफ्रेंड को कुछ और चाहिए होता है.. हमारी फ्रेंडस में किसी को भी इसके लेकर कोई परेशानी नहीं है. बल्कि कई फ्रेंड्स अपना रुम देने के लिए भी तैयार होती हैं और ना भी हो तो लड़के कुछ ना कुछ इंतज़ाम कर लेते हैं. उस शाम मेरे ब्वायफ्रेंड ने भी अपने किसी दोस्त के रूम का इंतज़ाम कर लिया और हमने अच्छी शाम गुज़ारी. पहला एक्सपीरिएंस था मेरा लेकिन बहुत अच्छा लगा. उसने कहा डरने की कोई बात नहीं है मैंने इतंज़ाम कर लिया है, सो डोंट वरी. 
लेकिन उस मुलाकात के बाद इस महीने मेरे पीरियड्स नहीं हुए, दस दिन लेट हो गए तो मैंने अपनी सहेलियों से सलाह ली तो उन्होंनें कहा कि तुम्हें तो पिल्स लेनी चाहिए थी. अब डॉक्टर को दिखाना पड़ेगा. एक फ्रेंड के साथ लेडी डॉक्टर के पास गई तो उसका बिहेवियर तो हैरान करने वाला था. उसने चेक करने से पहले ही पूछा कि क्या तुम्हारी शादी हो गई है. मैंने पूछा–इस सवाल को कोई मायने है. उसने कहा कि अगर नहीं तो फिर तुम्हें अपनी मदर को साथ लाना पड़ेगा. मैं उसके बिना नहीं करूंगी कुछ भी. तुम आजकल को बच्चे कुछ समझते नहीं हो. अगर इतनी ही बेचैनी रहती है तो शादी क्यों नहीं कर लेतीं.
मैं गुस्से में वहां से लौट आई, लेकिन अब समझ नहीं आ रहा कि क्या करूं?  मां को कैसे बताऊंगी. क्या लेडी डॉक्टर के पास जाने के लिए शादीशुदा होना ज़रूरी है या फिर मां को साथ ले जाना. आप क्या सलाह देंगी मुझे क्या अब मेरे पास कोई रास्ता नहीं है. मेरा डर बढ़ रहा है.

No comments:

Post a Comment

Search