Monday, July 10, 2017

एनआरआई से शादी करने से पहले ध्यान रखें 5 ज़रुरी बातें

प्रियंवदा सहाय:
विदेशों में बसे हिन्दुस्तानियों यानी एनआऱआई से शादी का क्रेज़ बढ़ता जा रहा है. लड़की वालों को शादी के लिए डॉलर और पॉउंड  में कमाने वाले लड़के ,लाखों रूपए के पैकेज वाले घरेलू लड़कों से ज्यादा पसंद आ जाते हैं. लेकिन क्या आप ये जानती हैं कि अच्छी तरह जांचे-परखे बगैर की गई इस तरह की शादियां मुसीबत का सबब बन सकती है. रोजाना ऐसे मामले सामने आ रहे हैं जिसमें पैसों के लालच, जबरन या किसी और कारणों से एनआरआई लड़के शादी
तो कर लेते हैं लेकिन जब लड़की विदेश पहुंचती है तो उसे कई कड़वी सच्चाईयों से रुबरु होना पड़ता है. बात घरेलु हिंसा से शुरु होकर डिप्रेशन या खुदकुशी की कोशिश या फिर तलाक तक पहुंच जाती है. इसलिए किसी एनआरआई के साथ अपनी बेटी या खुद की शादी से पहले कुछ बातों का ध्यान जरुर रखें.
 1-शादी के पहले लड़के और उसके परिवार, लड़के का पेशा, स्थाई पता, संभव हो तो उसके दोस्तों जिनके बीच उठना-बैठना होता है के बारे में ठीक से जान लें.
2- हो सके तो लड़के के आफिस का पता लेकर वहां से लड़के के बारे में जानकारी हासिल करें. ऐसा आप फोन से ईमेल के जरिए कर सकते हैं. हो सकता है लड़का जिस कंपनी में काम कर रहा हो उसका कोई ब्रांच या कोई ऑफिस भारत में भी हो. यहां से भी जानकारी ली जा सकती है.
3-कई बार ऐसे मामले आए हैं जिसमें लड़का पहले से शादीशुदा होता है और दूसरी शादी धोखे में हो रही होती है. आपकी बेटी के भविष्य का सवाल है इसलिए लड़के के रिलेशनशिप स्टेट्स के बारे में ठोंक-बजा कर जानकारी हासिल करें. लड़का यदि सोशल मीडिया के प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल करता है तो उसे ठीक से खंगाले.    
4- नेशनल कमीशन फॉर वूमन ने अपनी वेबसाइट पर  ‘Dos and Donts’ की एक सूची दी है. आप इसे ध्यान से पढ़ें और इसके आधार पर अपनी बेटी की शादी की बात आगे बढ़ाएं.
5-इसी तरह  पंजाब पुलिस की ‘एनआरआई अफेयर सेैल’ ‘ने भी किसी एनआरआई से शादी करने के इच्छुक लोगों के लिए ‘Dos and Donts’ की सूची तैयार की है. यदि आप पंजाब या उसके आसपास रहती हैं तो यहां से भी जानकारी हासिल कर सकती हैं.
चंद लच्छेदार लाइनों और बाहरी रंगढंग को देखकर कम से कम शादी का निर्णय तो नहीं ले क्योंकि यदि इसमें धोखाधड़ी हो गई तो भारी मुसीबत का सामना करना पड़ सकता है. दरअसल पंजाब. महाराष्ट्र, गुजरात और दक्षिण भारत में एनआरआई शादी का क्रेज सबसे ज्यादा है.कमीशन को 2014 में ऐसी 346 शिकायतें मिली. पंजाब में एनआरआई शादी में धोखाधड़ी के सबसे ज्यादा मामले सामने आते हैं. वहीं गुजरात की स्थिति भी बदहाल है.
महिला आयोग ने पंजाब में ऐसा कई मामला पाया जिसमें एनआरआई लड़के ने शादी के कुछ ही दिनों बाद लड़की को छोड़ दिया. हालांकि ऐसे बढ़ते मामलों पर पंजाब सरकार ने कुछ जरुरी कदम उठाए हैं. मसलन-पंजाब में होने वाली शादियों का रजिस्ट्रेशन ज़रुरी कर दिया है. यह नियम सभी धर्म, समुदाय और राष्ट्रीयता के ऊपर लागू किया गया है. यह भी जरुरी है कि एनआईआई या विदेशी मूल के व्यक्ति से होने वाली शादी के पहले पासपोर्ट नंबर, जारी करने वाले देश का नाम, वैधता की अवधि और स्थाई पता जैसे महत्वपूर्ण सूचनाओं को मैरिज रजिस्टार और मैरिज सर्टीफिकेट में दर्ज करना है. 
ध्यान रखिए ऐसी शादियों के टूटने पर कई दूसरी मुसीबतों का पहाड़ खड़ा हो जाता है. पीड़ित महिलाओ को आर्थिक और कानूनी सहायता मुहैया कराना चुनौतीपूर्ण होता है. लेकिन एनआरआई शादियों को लेकर लोगों में आकर्षण रहता है.

No comments:

Post a Comment

Search