Tuesday, June 27, 2017

जालसाजों के "TRAP" में तो नहीं आ गई आप?


रिया को किसी ने व्हाट्सएप के ज़रिए bank account details पाने वाले ख़ास नंबर के बारे में बताया. कहा गया कि अपने किसी भी बैंक खाते के बारे में वह इस नंबर से जानकारी हासिल कर सकती है. इतना सुनते ही उसने अपने खाते ता ब्यौरा व्हाट्सएप कर दिया लेकिन ऐसा करते ही वह जालसाज़ों के एक बड़े गैंग में फंस चुकी थी. किसी ने उसके खातों से रूपयों की अच्छी खासी चपत भी लगा दी.
अगर कोई आपको भी व्हाट्सअप पर bank account details जानने को उकसाता है और यह कहता है कि एक ख़ास नंबर पर बैंक खाते संबंधी ब्यौरा भेजकर सभी जानकारी हासिल की जा सकती है तो सावधान हो जाइए. निश्चित तौर पर कोई आपको अपने जाल में फंसाने की कोशिश कर रहा है.
हाल के दिनों में इस तरह की घटनाओं पर आरबीआई ने बैंक ग्राहकों को सचेत किया है और बताया है कि आरबीआई के नकली logo के साथ एक एप all bank balance enquiry number के नाम से व्हाट्सएप किया जा रहा है, वह फ़र्ज़ी है. अगर कोई ग्राहक इस नंबर पर अपने बैंक खाते का ब्यौरा भेजता है तो इसके लिए बैंक या आरबीआई ज़िम्मेदार नहीं है. वही यह भी साफ़ किया है कि आरबीआई किसी से व्यक्तिगत तौर पर लेन देन नहीं करता है. इसलिए ऐसे किसी सूचना या सुविधा को नज़रअंदाज़ करें.
दरअसल बैंक खाता की जानकारी देने वाले व्हाट्सएप संदेश में सरकारी व निजी बैंकों के फ़र्ज़ी मोबाइल नंबर और काल सेंटर नम्बर भी दिये गये हैं. जिनपर बैंक ब्यौरा देने को कहा जाता है. जैसे ही बैंक संबंधी ज़रूरी जानकारी शेयर किया जाता है बैंक खाते से रूपए निकालने का रास्ता तैयार हो जाता है. इसी तरह आरबीआई के नाम पर क्रेडिट कार्ड की ब्रिक्री, मल्टी लेवल मार्केटिंग या पुरस्कार पाने वाले मेल से भी सचेत रहने को आगाह किया गया है.
आरबीआई ने यह भी कहा है कि अगर इंटरनेट बैंकिंग का ब्यौरा देने के लिए कोई मेल आरबीआई की तरफ़ से आता है ते यह ख़तरे का संकेत है. आरबीआई की ओर से ऐसे मेल नहीं किये जाते हैं. अगर ईमेल के ज़रिए लकी ड्रा में विदेशी कंपनी से इनाम जीतने या किसी आफर की विजेता बनने का मेल आए तो ऐसे किसी झांसे में फंसने की बजाए पुलिस या साइबर क्राइम आथरिटी में तुरंत शिकायत दर्ज कराएं.

No comments:

Post a Comment

Search