Thursday, November 26, 2015

Book on Vajpayee...(4)

1977....संसद में एक राजकुमारी की कहानी.....। एक सुंदर राजकुमारी को अपने रूप पर बहुत घंमड था। उसके लिए कोई भी  शादी का प्रस्ताव लेकर जाता तो उसे खारिज़ कर देती । साल बीतते गए , कुछ साल बाद राजकुमारी ने शादी करने
का फैसला किया ,लेकिन कोई नहीं आया तो राजकुमारी हैरान थी । जब उसने अपने वज़ीर से इस पर मशविरा किया तो वज़ीर ने राजकुमारी को शीशे में देखने की सलाह दी ... तो कांग्रेस को भी शीशे में देखना चाहिए और उम्मीद नहीं छोड़नी चाहिए । 

No comments:

Post a Comment

Search