Friday, September 27, 2013

Rahul takes on Mamohan

RAHUL TAKES ON MANMOHAN




Congress Vice president Mr Rahul Gandhi Rejected the Manmohan Singh's Govt ordinance on tainted leaders . Rahul said it shud be torn up and thrown away.he said its complete nonsense.Yesterday President Mr Pranab Mukherji has shown some objections on the ordinance ans spoken to the Ministers .
Does it mean their are differences between Govt and Congress Party.

Tuesday, September 10, 2013

chiddmbaram vs pranab -has chids lied in parl



विजय त्रिवेदी


क्या वित्त मंत्री चिदंबरम ने संसद को गुमराह किया

देश के बदतर होते मौजूदा आर्थिक हालात के लिए आखिरकार कौन ज़िम्मेदार है , मौजूदा वित्त मंत्री पी चिदंबरम या फिर पूर्व वित्त मंत्री और मौजूदा राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ।

 एनडीए सरकार में वित्त मंत्री रहे यशवंत सिन्हा ने तो इसके लिए सदन में चिदंबरम के २००८-०९ में पहले कार्यकाल को ज़िम्मेदार ठहराया है लेकिन चिदंबरम ने इसके लिए २०१०-११ में वित्त मंत्री प्रणब मुखर्जी को ज़िम्मेदार माना है ।


राष्ट्रपति आज अपनी तरफ से तो कोई सफाई संसद में नहीं दे सकते ,लेकिन प्रधानमंत्री की चुप्पी का माने क्या ये है

Monday, September 9, 2013

baba ramdev-धर्म सत्ता में गिरावट


विजय त्रिवेदी

साधुओं को भी बहू बेटियों से अकेले में नहीं मिलना चाहिए

योग गुरु बाबा रामदेव के साथ ख़ास मुलाक़ात

वे साधु हैं । योग गुरु है । आध्यात्मिक चिंतन करना और उसके लिए कोशिश करना उनकी फितरत है । समाज में सुधार करना नैतिकता को स्थापित करना और विवेकशील बनाना उनकी इच्छा है ।कालेधन और भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई लड़ने में लगे हैं ।

 सरकार उनसे नाराज़ रहती है अक्सर राजनीतिक दल खुश नहीं रहते और सोशल एक्टिविस्ट उन्हें अपना ताकतवर प्रतिद्वन्दी मानते हैं । चोला भगवा है,साधना योग की है और इरादा सत्ता परिवर्तन का ,क्योंकि उनके मुताबिक सत्ता में बदलाव के बिना अब समाज में बदलाव नहीं होगा । बेबाक बोलना उनका मिजाज़ है और बेखौफ़ होना

Monday, September 2, 2013

let people decide-xclusive thomas


विजय त्रिवेदी
सहयोगी- प्रतिभा ज्योति
वोट गारंटी बिल हैतो जनता तय करेगी

केन्द्रीय मंत्री के वी थामस से ख़ास मुलाक़ात

ना तो उनके दफ़्तर में फोन की घंटी का बजना रुक रहा है और ना ही मुबारकबाद और शुक्रिया अदा करने वाले मुलाक़ातियों का आना ।दिल्ली से बहुत दूर केरल की नुमाइंदगी करने वाले प्रोफेसर को यूं तो लंबा वक्त हो गया है राजनीति में लेकिन दिल्ली के पावर कारिडोर में अब उनका जलवा दिखाई दे रहा है ।

 यूपीए चैयरपर्सन और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के सपने को पूरा करने की चमक और खुशी चेहरे पर साफ दिखाई पड़ती है । कुछ के हिसाब से ऐतिहासिक कदम है फूड सिक्योरिटी बिल तो कुछ इसे वोट गांरटी बिल मानते हैं लेकिन केन्द्रीय खाद्य मंत्री प्रोफेसर के वी थामस के हिसाब से लैट पीपुल डिसाइड ।

Search